राेजगार देने पर उद्योगों को 5 और 13 हजार रुपए तक की प्रति व्यक्ति सब्सिडी मिलेगी

टैक्सटाइल कंपनी 2021-22 में उत्पादन शुरू करे तो एक रु. प्रति यूनिट बिजली 


 


भोपाल . सीमेंट, टेक्नोलाॅजी, ऑटो इंडस्ट्री के साथ-साथ राज्य सरकार ने टैक्सटाइल और फार्मा के क्षेत्र में भी निवेश करने वालों के लिए प्रोत्साहन के नए प्रावधान तय किए हैं। टैक्सटाइल के क्षेत्र में कंपनी 2021-22 तक व्यावसायिक उत्पादन प्रारंभ कर देती है तो उसे एक रुपए प्रति यूनिट पर बिजली दी जाएगी। इसी तरह वह 10 से लेकर 1500 करोड़ तक का निवेश करती है तो 40 से 10 फीसदी तक सब्सिडी के साथ ब्याज में भी 5 से 7 फीसदी तक अनुदान दिया जाएगा। सरकार का स्थानीय रोजगार पर भी पूरा फोकस है। इसीलिए निवेश करने वाले उद्योगपतियों को प्रोत्साहित करने के लिए वह प्रति व्यक्ति 5000 रुपए और 13 हजार रुपए तक राशि बतौर सब्सिडी मप्र सरकार देगी। यह राशि नॉन स्किल्ड और स्किल्ड व्यक्ति के हिसाब से होगी।




बताया जा रहा है कि रोजगार देने पर मिलने वाली प्रोत्साहन राशि और बिजली टैरिफ में पांच रुपए का अनुदान अगले 5 वर्ष तक मिलेगा। राज्य सरकार टैक्सटाइल उद्योगों के लिए भोपाल, इंदौर के साथ जबलपुर की भी ब्रांडिंग कर सकती है। फार्मा क्षेत्र के लिए भी प्रोत्साहन के नए आॅफर को मंजूरी दी गई है। मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल ग्रेड-एक, मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल ग्रेड-दो, सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल और मेडिकल काॅलेज में निवेश करने पर जमीन में 20-40 फीसदी तक की छूट और कैपिटल सब्सिडी 20-40 फीसदी तक दी जाएगी। पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री या स्पेशियलिटी नर्सिंग कोर्स शुरू करने पर भी प्रोत्साहन देने की तैयारी है। मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ उद्योग विभाग 18 अक्टूबर को इंदौर में होने जा रही मैग्नीफिसेंट एमपी समिट में इसकी जानकारी निवेशकों के सामने रखेगा। 


अब तक 700 उद्योगपतियों ने दी आने की सहमति : मैग्नीफिसेंट एमपी में 900 से अधिक बड़े उद्योगपति शामिल होंगे। अब तक 700 उद्योगपतियों ने सहमति दे दी है। इसमें आदित्य बिड़ला समूह के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला, आदि गोदरेज सहित कई अन्य जाने-माने उद्योगपति हिस्सा लेंगे। इनमें 300 से ज्यादा कंपनियों के चेयरमैन, प्रेसीडेंट और एमडी हैं। इनके अलावा 200 से अधिक सीईओ, ईडी, जीएम, बिजनस हेड , सीएफओ और स्टेट हेड आदि हिस्सा लेंगे।  मैग्नीफिसेंट एमपी में 70 से ज्यादा कंपनियां एग्जिबिशन स्टाल लगाएंगी। उद्घाटन सत्र में विजुअल होलोग्राफिक शो होगा। सरकार ने मीट के माध्यम से करीब एक लाख करोड़ के निवेश की संभावना जताई है। प्रदेश में निवेश होने से यहां रोजगार के अवसरों में बढ़ोतरी होगी।


Popular posts