छिन्दवाड़ा/दिव्यांग युवक-युवती परिचय सम्मेलन एवं विवाह आयोजन को लेकर बैठक संपन्न फरवरी माह में जिले में दो चरणों में आयोजित, होगा राज्य स्तरीय दिव्यांग विवाह सम्मेलन

मुख्य कार्यपालन अधिकारी  पंचायत श्री गजेंद्र सिंग नागेशजिला की अध्यक्षता में गत दिवस जिला पंचायत के सभाकक्ष में दिव्यांग युवक-युवती परिचय सम्मेलन एवं विवाह आयोजन के संबंध में बैठक संपन्न हुई। बैठक में 85 से ज्यादा एन.जी.ओ. तथा विभिन्न सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों के पदाधिकारी उपस्थित थे। बैठक में सभी संगठनों द्वारा एक-एक दिव्यांग जोड़ा परिचय एवं विवाह के लिये तैयार कर कार्यक्रम में लाने की जवाबदारी ली गई। इस दौरान सर्वश्री के.एल.बरडे, कलापथक दल से नरेन्द्र पाल, अंशुल साबले, पंचलाल यदुवंशी, महेश किंध, राकेश शर्मा, महेन्द्र खरे एवं सभी संगठनों के पदाधिकारियों ने अपने-अपने विचार रखे।


      बैठक में बताया गया कि राज्य शासन द्वारा सामाजिक न्याय की अवधारणा को साकार करने के उद्देश्य से दिव्यांगजनों को मुख्यधारा में लाने का कार्य किया जा रहा है। इसके अंतर्गत दिव्यांगों के सामाजिक पुनर्वास की दृष्टि से मध्यप्रदेश विकलांग विवाह प्रोत्साहन योजना संशोधित 2018 के प्रावधानों के अनुरूप इनके विवाह का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसी कड़ी में जिले में आगामी फरवरी माह में दो चरणों में राज्य  स्तरीय दिव्यांग विवाह सम्मेलन का आयोजन किया गया है। कार्यक्रम के प्रथम चरण में एक फरवरी को परिचय सम्मेलन और व्दितीय चरण में 18 फरवरी को विवाह सम्मेलन का आयोजन होगा।

      यह कार्यक्रम राज्य स्तरीय रहेगा जिसमें दंपत्ति जोड़े में से कोई एक राज्य के किसी भी जिले का निवासी हो सकता है, लेकिन इन दंपत्तियों में से किसी एक का जिले का मूल निवासी होना आवश्यक है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश विकलांग विवाह प्रोत्साहन योजना संशोधित 2018 के प्रावधानों के अंतर्गत दंपत्ति में दोनों के नि:शक्त होने पर एक लाख रुपये की राशि और एक के नि:शक्त होने पर 2 लाख रूपये की राशि देने का प्रावधान है। साथ ही कन्या विवाह प्रोत्साहन योजना की 51 हजार रूपये की राशि भी कन्या को प्रदाय की जाएगी।


Popular posts