भोपाल का कोई कोना धूल के प्रदूषण से मुक्त नहीं है, लालघाटी और कोलार राजधानी के सबसे प्रदूषित इलाके

भोपाल में प्रदूषण देखने के लिए रैंडम सैंपल लिए गए। तस्वीर कोलार की, यहां लोगों को अक्सर जाम से जूझना पड़ता। के लिए इमेज नतीजेभोपाल. राजधानी में लालघाटी और कोलार रोड इलाका सबसे ज्यादा प्रदूषित इलाके हैं। यहां बारीकी धूल के कण होने से हालात चिंताजनक हैं। दोनों ही इलाके में पर्टिकुलेट मैटर (पीएम-10) का स्तर क्रमश: 464 और 403 माइक्रोग्राम/ क्यूबिक मीटर (एमजीसीएम) पाया गया है। सोमवार को जनता की लैब की ओर से राजधानी के 13 हाई ट्रैफिक मोबेलिटी वाले इलाकों की रैंडम एयर क्वालिटी की सैंपलिंग की गई। शाम के वक्त 3.45 बजे से 6.20 बजे के बीच की गई इस सैंपलिंग में सभी जगह की हवा प्रदूषित पाई गई। किसी भी स्थान पर वायु गुणवत्ता केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के निर्धारित मानकों की स्वीकार्य अधिकतम मात्रा से कम नहीं थी।जनता की लैब के संचालक डॉ. सुभाष पांडेय के मुताबिक, राजधानी में सभी 13 स्थानों पर सैंपलिंग के बाद पीएम-2.5 का औसत स्तर 138 एमजीसीएम पाया गया, जो पर्मिसिबल लिमिट 50 एमजीसीएम से लगभग ढाई गुना अधिक था। वहीं, पीएम-10 का औसत स्तर 246 एमजीसीएम मिला, यह भी अपनी पर्मिसिबल लिमिट 100 एमजीसीएम से ढाई गुना अधिक रिकॉर्ड किया।


टीटी नगर स्थित एक्यूआईएमएस पर उठाए सवाल पांडेय ने टीटी नगर स्थित केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से स्थापित कंटीनुअस एंबिएंट एयर क्वालिटी मॉनिटरिंग सिस्टम (सीएएक्यूएमएस) पर भी सवाल उठाए हैं। यहां ऑनलाइन डिस्प्ले बोर्ड पर दिखाए जा रहे प्रदूषण के आंकड़े लाइव होने के बजाए 24 घंटे का औसत निकालकर दिखाए जा रहे हैं। इतना ही नहीं, सीएएक्यूएमएस को सीएसपी ऑफिस की छत पर लगाया गया है, जो जमीन से 40 फीट ऊंचाई पर है। जबकि इंसान धरती से 10 फीट की ऊंचाई के बीच मौजूद हवा में श्वसन करते हैं। इस कारण यह सिस्टम उस हवा की गुणवत्ता सही से नहीं माप सकता, जो आम आदमी के स्वास्थ्य को प्रभावित करती है।


Popular posts
मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा में मंत्री श्री कराड़ा ने प्रदेश में माफियाओं के विरूद्ध की जा रही कार्यवाही से अवगत कराया
Image
जबलपुर/समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने दिये सीएम मॉनिट से प्राप्त प्रकरणों को प्राथमिकता देने के निर्देश
Image
जबलपुर / संतों के साथ मिली सरकार, कुंभ का सपना हुआ साकार नर्मदा गौ-कुंभ: राज्य सरकार के प्रयासों को विशिष्ट संतों की मिल रही सराहना, संतों ने कहा, सरकार का ये प्रयास पूरे देश के लिये अनुकरणीय
Image
राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने बेटियों का किया सम्मान
Image
मध्यप्रदेश/कार्यवाहक मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ राष्ट्रीय अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधीजी से मुलाक़ात कर आज ही 23 मार्च,सोमवार को दिल्ली से भोपाल लौट रहे है
Image