रायसेन / शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने किए जा रहे हैं नवाचार - स्कूल शिक्षा मंत्री पं. दीनदयाल शासकीय महाविद्यालय बेगमगंज के वार्षिक उत्सव में शामिल हुए स्कूल शिक्षा मंत्री

 



   प्रदेश में शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने तथा छात्रों को आगे बढ़ने के अधिक से अधिक अवसर उपलब्ध कराने के लिए शिक्षा के क्षेत्र में लगातार नए प्रयोग किए जा रहे है।
जब छात्रों को बेहतर शिक्षा मिलेंगी तो निश्चित ही उनका भविश्य उज्जवल होगा और वे अपने माता-पिता, क्षेत्र तथा प्रदेश का नाम रौशन करेंगे। यह बात स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने पण्डित दीनदयाल शासकीय महाविद्यालय बेगमगंज में आयोजित वार्षिक उत्सव सह सम्मेलन का शुभारंभ करते हुए कही।
    स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि प्राचार्यो को दक्षिण कोरिया, बैंगलोर, नई दिल्ली सहित अन्य महानगरों में भेजा गया। प्राचार्यो द्वारा वहां की शिक्षा प्रणाली का अध्ययन किया गया तथा प्रदेश में उनका सफल प्रयोग कर छात्रों को और अधिक ऊर्जावान बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि रायसेन तथा भोपाल के 12 स्कूलों में दक्षिण कोरिया की संस्था के सहयोग से कक्षा साथी परियोजना संचालित की जा रही है, जिसमें छात्रों को रियल टाईम मूल्यांकन किया जा रहा है। कार्यक्रम में पूर्व विधायक श्री देवेन्द्र पटेल ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम के शुभारंभ में महाविद्यालयों की छात्राओं द्वारा सरस्वती वंदना तथा स्वागत गीत की प्रस्तुति दी गई। इस अवसर पर एसडीएम श्री संजय सिंह, प्रभारी प्राचार्य श्री ओपी बागड़ी, प्रोफेसर, गैरतगंज ब्लाक अध्यक्ष श्री विजय पटेल, श्री मलखान सिंह जाट सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित  थे। 


सुल्तागनंज में संत शिरोमणि श्री रविदास मंदिर के उद्घाटन समारोह में शामिल हुए स्कूल शिक्षा मंत्री स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी सुल्तानगंज में संत शिरोमणि श्री रविदास मंदिर के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि संत शिरोमणि गुरु रविदास जी शांति, प्रेम, सत्य और पुनर्जागरण के अग्रदूत थे। उनका जीवन त्याग, तपस्या और मानव-सेवा का महान उदाहरण है। हम सभी को उनके बताए जीवन-मूल्यों के प्रसार एवं उनके अनुरूप आचरण को अपने जीवन में अपनाना चाहिए।
    उन्होंने कहा कि संत रविदास जी ने अपने विचारों से दुनिया में सामाजिक एकता व समरसता का संदेश दिया। उन्होंने विभिन्न सामाजिक बुराइयों को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। न्याय, समानता और सेवा पर आधारित उनकी शिक्षा हर युग में लोगों को प्रेरित करती रहेगी। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि संत किसी एक जाति या एक समाज के नहीं होते बल्कि वे पूरे मानव समाज के संत होते हैं और मानव कल्याण के लिए सभी का मार्गदर्शन करते हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ चौधरी ने मंगल भवन निर्माण के लिए पांच लाख रूपए की घोषणा भी की। इस अवसर पर पूर्व विधायक श्री देवेन्द्र पटेल भी उपस्थित थे।


Popular posts
मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा में मंत्री श्री कराड़ा ने प्रदेश में माफियाओं के विरूद्ध की जा रही कार्यवाही से अवगत कराया
Image
जबलपुर/समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने दिये सीएम मॉनिट से प्राप्त प्रकरणों को प्राथमिकता देने के निर्देश
Image
एमपी में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए 60 हजार बिस्तर तैयार, जांच की क्षमता में भी होगी बढ़ोतरी
Image
राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने बेटियों का किया सम्मान
Image
चीन ने कहा- अमेरिका दोनों देशों को नए शीत युद्ध की तरफ धकेल रहा है, हम कोरोनावायरस के सोर्स की जांच के लिए तैयार
Image