सीधी / संजय गांधी स्मृति महाविद्यालय में वार्षिक स्नेह सम्मेलन सम्पन्न

प्रतिस्पर्धा में करें भागीदारी, चुनौतियों से डरे नहीं- पंचायत मंत्री श्री पटेल










    पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं को प्रेरित करते हुए कहा कि प्रत्येक छात्र को प्रतिस्पर्धा में भागीदारी करनी चाहिए। चुनौतियों से डर कर पीछे नहीं हटना चाहिए बल्कि उसका तटस्थ रहकर मुकाबला करना चाहिए। उन्होने कहा कि प्रतिस्पर्धा में शामिल होने से अपनी क्षमताओं का आंकलन तथा उसमें आवश्यक सुधार के लिए फीडबैक मिलता है। पंचायत मंत्री संजय गांधी स्मृति शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के वार्षिक स्नेह सम्मेलन एवं पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होने महाविद्यालय के आडोटोरियम के बाउण्ड्री निर्माण के लिए 10 लाख रूपये तथा फर्नीचर की व्यवस्था के लिए 40 हजार रूपये प्रदाय करने की घोषणा की। कार्यक्रम की अध्यक्षता कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी द्वारा की गयी।
     ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल ने पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय श्री अर्जुन सिंह तथा पूर्व शिक्षा मंत्री स्वर्गीय श्री इन्द्रजीत कुमार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किए गए कार्यों का स्मरण कर शिक्षा की महत्ता के विषय में बताया। उन्होने कहा कि सरकार मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के नेतृत्व में शिक्षा को रोजगारोन्मुखी बनाने के लिए प्रयास कर रही है। नवीन शिक्षा नीति को बनाने के लिए शिक्षा मंत्री एवं अधिकारियों द्वारा विश्व एवं देश के उत्कृष्ट संस्थानों का अध्ययन किया जा रहा है। उन्होने कहा कि महाविद्यालयों में प्राध्यापकों की कमी को देखते हुए सरकार द्वारा महाविद्यालयों में भर्तियां की गयी हैं। इसके साथ ही युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए औद्योगिक संस्थानों के लिए 70 प्रतिशत स्थानीय लोगों को रोजगार प्रदान करने की अनिवार्यता की गयी है। पंचायत मंत्री ने कहा कि सीधी जिले में शैक्षणिक सुविधाओं की वृद्धि के लिए सतत् प्रयास किए जा रहें हैं। सीधी में लॉ संकाय पुन: प्रारंभ करने, सिहावल महाविद्यालय में नवीन संकायों को प्रारंभ करने तथा बहरी में महाविद्यालय प्रारंभ करने के लिए प्रयास किए जा रहें हैं, जिसके परिणाम शीघ्र ही मिलेंगें।
         उन्होने उपस्थित विद्यार्थियों से कहा कि स्वयं को हुनरमंद बनाये जिससे वे अपने सामने आने वाले प्रत्येक मौके का लाभ प्राप्त कर सकेंगें। उन्होने छात्रों का देश एवं समाज की बेहतरी के लिए कार्य करने का आह्वान किया। देश के युवा के जागरूक एवं शिक्षित होने से ही देश का विकास संभव है। पंचायत मंत्री ने वार्षिक स्नेह सम्मेलन में भागीदारी करने वाले छात्रों को प्रोत्साहित करते हुए 51 हजार रूपये तथा प्रत्येक छात्र को सहभागिता के लिए 2 हजार रूपये की राशि स्वेच्छानुदान से प्रदाय करने के लिए कहा है।
     कार्यक्रम में महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. ए.आर. सिंह द्वारा अतिथियों का स्वागत किया गया तथा महाविद्यालय का प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया।
    इस अवसर पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री द्वारा गांधी वाटिका का शिलान्यास किया गया। पुरूस्कार वितरण में राष्ट्रीय सेवा योजना को राज्य स्तरीय शिविर एवं राष्ट्रीय शिविर में सहयोग करने वाले छात्रों को, एन.सी.सी. के गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेने वाले कैडेट को, खेलकूद में संभाग एवं राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने वाले छात्र-छात्राओं को एवं स्नेह सम्मेलन में युवा उत्सव एवं शुद्ध के लिए युद्ध में राज्य स्तर पर भाग लेने वाले छात्रों को पुरूस्कृत किया।
    इस अवसर पर जनपद अध्यक्ष सिहावल श्रीमान सिंह, रामपुर नैकिन के. डी. सिंह, पुलिस अधीक्षक आर. एस. बेलवंशी, उपखण्ड अधिकारी सिहावल सुधीर कुमार बेक, गणमान्य नागरिक रूद्र प्रताप सिंह, चिन्तामणि तिवारी, आनन्द बहादुर सिंह, राजेन्द्र सिंह भदौरिया, बसंती देवी, विनय सिंह, आनन्द मंगल सिंह, प्रदीप सिंह, सहित अभिभावक एवं महाविद्यालयीन छात्र-छात्रायें उपस्थित रहें।
    स्नेह सम्मेलन में डॉ. पी.के. सिंह, डॉ. ए.के. तिवारी, डॉ. अरविन्द कुमार त्रिपाठी, डॉ. आई.पी. प्रजापति, डॉ. आर.पी. सिंह, डॉ. सुरेन्द्र सिंह चौहान, डॉ. एल.बी. सिंह, डॉ. एस.एम. मिश्रा, डॉ. आर.बी. यस चौहान, डॉ. आर.एल. शर्मा, डॉ. अंकित कृष्ण पाण्डेय का सहयोग रहा।



Popular posts