नगरीय प्रशासन आयुक्त श्री नरहरि ने लिया अपशिष्ट प्रबंधन की गतिविधियों का जायजा

श्री पी. नरहरि ने भानपुर पुरानी खंती के रीमेडिएशन एवं साइंटिफिक क्लोजर की प्रक्रिया का भी अवलोकन किया और कचरे के वैज्ञानिक तरीके से जैविक खाद आदि बनाने की पद्धति और खंती की भूमि के समतलीकरण के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त की। इस मौके पर बताया गया कि भानपुर खंती की 37 एकड़ भूमि पर वर्षों से शहर का कचरा डम्प किया जा रहा था।



यहाँ लगभग 12 लाख टन कचरा एकत्र था, जिसका पृथक्कीकरण कर जैविक खाद आदि बनाने के साथ ही कचरे से मुक्त भूमि का समतलीकरण किया जा रहा है। वर्ष 2021 तक इस स्थान पर 21 एकड़ में हरित क्षेत्र विकसित किया जायेगा। आयुक्त श्री नरहरि ने जैविक खाद के उपयोग के संबंध में जानकारी चाही तो बताया गया कि नगर निगम, वन विभाग एवं सेना द्वारा जैविक खाद उपयोग के लिये ली जा रही है तथा कुछ आसपास के किसान भी इसे उपयोग कर रहे हैं। श्री नरहरि ने जैविक खाद का व्यापक प्रचार-प्रसार करने एवं इसके उपयोग के लिये किसानों को प्रेरित करने को कहा।


Popular posts