अमेजन की निवेश योजना पर पीयूष गोयल के बयान को सिंधिया ने बताया ‘दुर्भाग्यपूर्ण’

jyotiraditya scindia ठ ॠ  लिठ  ठ मॠ ठ  परिणामभोपाल, 19 जनवरी (भाषा) पूर्व केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री रह चुके कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने रविवार को केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल के उस बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि विश्व की जानी मानी ई-वाणिज्य कंपनी अमेजन हमारे देश में निवेश कर कोई भारत पर एहसान नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि जब देश को निवेश की सख्त जरूरत है, उस समय मंत्री द्वारा ऐसी टिप्पणी करने से देश का भला नहीं होगा। सिंधिया ने कहा कि यह दुर्भाग्य है कि ऐसी टिप्पणी की गई। सिंधिया ने कहा, “आज देश की आर्थिक प्रगति की दर बढ़ाने, विदेशी निवेश आकर्षित करने, महंगाई पर काबू पाने और बेरोजगारी को समाप्त करने की सख्त जरूरत है और इन चारों मुद्दों पर आज देश की बड़ी चिंताजनक स्थिति है जो शायद पिछले 25-30 साल में नहीं रही हो।” अमेजन द्वारा भारत में निवेश करने पर पीयूष गोयल द्वारा तीन दिन पहले की गई टिप्पणी पर पूछे गये सवाल के जवाब में सिंधिया ने यहां मीडिया को बताया, ‘‘देखिये, कोई भी निवेश कर्ता जब किसी भी देश में निवेश करता है, उससे देश का भी भला होता है और निवेश कर्ता का भी भला होता है। लेकिन मैं नहीं मानता कि यह उचित है कि जब कोई भागीदारी हो निवेश कर्ता के बीच में और देश हित के बीच में, कोई भी ऐसी टिप्पणी जो उस भागीदारी को छोटा करे या उसे कम करने की कोशिश करे।’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘मैं नहीं मानता कि यह उचित है। अपना दुर्भाग्य है कि ऐसी टिप्पणी की गई। ’’ सिंधिया ने बताया, ‘‘आज देश में निवेश की सख्त जरूरत है। पूरे विश्व में हर देश निवेश के लिए लाल कारपेट लगा रहा है और अगर हमारे देश में हम ऐसी टिप्पणी करें तो इससे निवेश कर्ता में तो ऊर्जा नहीं आने वाली।’’ उन्होंने कहा कि वैसे भी देश के अंदर जितने भी उद्योगपति हैं उनकी ऊर्जा तो निवेश करने के लिए समाप्त हो गई है। इसलिए आज हमें (विदेशी) निवेश कर्ता को आकर्षित करने की जरूरत है। सिंधिया ने बताया, ‘‘आज अंतरराष्ट्रीय जगत में जो स्थिति है, वही हमारे देश के अंदर की स्थिति है। राज्यों के बीच में भी प्रतिस्पर्धा है। हर राज्य के बीच में प्रतिस्पर्धा है कि आप उस राज्य में निवेश मत करो, आप हमारे यहां निवेश करने आओ।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसी उदाहरण के साथ मैं समझाना चाहता हूं कि अगर किसी राज्य ने निवेश कर्ता पर (गोयल जैसी) यह टिप्पणी कर दी तो कितने और राज्य हैं उनको पकड़ने के लिए। कहेंगे कि आप वहां छोड़ों, आप यहां आ जाओ। वैसे ही स्थित अंतरराष्ट्रीय स्तर पर है।’’ सिंधिया ने कहा कि आज हम लोगों को निवेश की सख्त जरूरत है और अगर हम ऐसी टिप्पणी करेंगे तो देश का भला थोड़ी होगा। मालूम हो कि दुनिया के सबसे बड़े धनाढ्य व्यक्ति जेफ बेजोस के भारत में एक अरब डॉलर के निवेश की घोषणा के एक दिन बाद गुरूवार को गोयल ने कहा था कि अमेजन भारत में निवेश कर कोई एहसान नहीं कर रही। उन्होंने यह भी सवाल उठाया कि ऑनलाइन कारोबार मंच उपलब्ध कराने वाली कंपनी अगर दूसरों का बाजार बिगाड़ने वाली मूल्य नीति पर नहीं चल रही है तो उसे उसे इतना बड़ा घाटा कैसे हो सकता है।


Popular posts