मप्र / मंत्री इमरती देवी बोलीं- चिह्नित 11 कुषोपित बच्चों के घर मैं स्वयं जाऊंगी, जो भी अच्छा कर सकते हैं वह करेंगे

  • महिला एवं बाल विकास मंत्री ने आंगनबाड़ी में चखा भोजन, कहा- पूड़ी पतली बनाएं, खीर ज्यादा उबालें

  • कुपोषण से जड़ से खत्म करने के लिए बड़ी कार्य योजना बनाई, कुछ साल में जमीनी स्तर पर बदलाव दिखेगा

    महिला एवं बाल विकास मंत्री ने गुजरी आंगनबाड़ी केंद्र का निरीक्षण किया।imarti devi image के लिए इमेज परिणामगुजरी. महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी मांडू का भ्रमण करने के बाद गुजरी पहुंचीं। यहां उन्होंने आदर्श आंगनबाड़ी क्रमांक 3 बाल शिक्षा केंद्र का निरीक्षण किया और बच्चों से कविताएं सुनी। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मोनिका बघेल, प्रतिभा तिवारी ने केंद्र की गतिविधियों के बारे में मंत्री को बताया। भवन के ऊपर एक मंजिल अतिरिक्त भवन बनवाने की मांग की। मंत्री ने खीर, पूड़ी और सब्जी खाई। उन्होंने स्टाफ से कहा- पूड़ी ज्यादा मोटी न बनाई जाए। खीर ज्यादा देर तक उबालने की कोशिश करें।


    कुपोषण को लेकर मंत्री ने कहा- इसके खिलाफ प्रदेश में जंग जारी है। दस्तक अभियान के माध्यम से हम घर-घर बच्चों का सर्वे कर रहे हैं। एक भी कुपोषित बचे नहीं ऐसा हमारा प्रयास है। स्वस्थ भारत के संकल्प को लेकर मैं स्वयं चिह्नित 11 कुपोषित बच्चों के घर जाऊंगी और हम उनके लिए योजनाओं के माध्यम से क्या अच्छा कर सकते हैं इस पर गंभीरता से काम करेंगे। कुपोषण से जड़ से खत्म करने के लिए बड़ी कार्य योजना बनाई है। आने वाले कुछ साल में जमीनी स्तर पर बदलाव देखने को मिलेगा।


    गुजरी जैसे बाल शिक्षा केंद्र प्रदेशभर में खोलेंगे
    मंत्री ने बताया- गुजरी में जो बाल शिक्षा केंद्र है उसी तरह प्रदेश में सभी जगह बाल शिक्षा केंद्र खोले जाएंगे। इसमें बच्चों को नर्सरी स्तर की शिक्षा दी जाएगी। आंगनबाड़ी केंद्रों को प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल एवं शिक्षा (ईसीसीई) के मॉडल केंद्रों के रूप में विकसित करने की दिशा में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा प्रथम चरण में जिले में कुछ आंगनबाड़ी केंद्रों का चयन किया गया है। इन केंद्रों को अब बाल शिक्षा केंद्र के रूप में संचालित किया जा रहा है। 20 मिनट गुजरी में रुकने के बाद मंत्री महेश्वर रवाना हुई। महिला एवं बाल विकास विभाग की संभागीय अधिकारी संध्या व्यास, डीपीओ एस सिह्ना, एस मीणा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। मंत्री के साथ धरमपुरी विधायक पांचीलाल मेड़ा, वरिष्ठ कांग्रेस नेता भीमसिंह ठाकुर, प्रदीप ठाकुर, मांगीलाल शर्मा, आयटी सेल प्रदेश सचिव भगवानदास प्रजापत, विजय जायसवाल, पुष्पेंद्र सारड़ा आदि कार्यकर्ता मौजूद थे।




Popular posts