भोपाल/महिला सशक्तिकरण में समाज की सहभागिता जरूरी राष्ट्रीय बालिका सप्ताह सम्मान समारोह में मंत्री श्रीमती इमरती देवी


   महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने कहा है कि मध्यप्रदेश सरकार द्वारा महिला और बेटियों के सशक्तीकरण के कार्यक्रमों में सभी वर्गों की सहभागिता जरूरी है। श्रीमती इमरती देवी आज राष्ट्रीय बालिका सप्ताह के अंतर्गत सम्मान समारोह में ओरिएंटल कालेज में संबोधित कर रही थीं। उन्होंने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि बेटियां देश का भविष्य हैं, यह हमारी धरोहर और विरासत हैं, इनकी रक्षा और सम्मान हर नागरिक का कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि यह वह दौर है जहां बेटियां देश-प्रदेश का नाम रोशन कर रही है। 

    कार्यक्रम में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजनांतर्गत राष्ट्रीय बालिका सप्ताह 24 जनवरी से 30 जनवरी तक आयोजित किया गया था। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना का मुख्य उद्धेश्य जहां बालिकाओं के लिंगानुपात स्तर में वृद्धि करना है, बेटियों को समाज में समानता का अधिकार प्राप्त हो। उन्होंने कहा कि बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए अभिभावक और समाज अनुकूल वातावरण तैयार करें जिससे बेटियां विभिन्न विधाओं में आगे बढ़ सकें।

    मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने कहा कि महिलाओं और बेटियों के सशक्तिकरण के लिए शासन द्वारा कईं नवाचार भी चलाये जा रहे हैं जिससे लोग जागरूक भी हो रहे   हैं। सम्मान समारोह में मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने लाडली लक्ष्मी,मातृ वंदना योजनांतर्गत उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं,बालिकाओं, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायिकाओं सहित विभिन्न अधिकारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया। इसके पूर्व मंत्री ने बालिकाओं द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन कर प्रदर्शनी की सराहना भी की। उन्होंने जनजागरूकता के लिए चलाये जा रहे अभियान में हस्ताक्षर भी किए।
    महिला बाल विकास विभाग के उप संचालक श्री बृजेश त्रिपाठी ने अतिथियों का सम्मान किया और कार्यक्रम के बारे में भी बताया। इस अवसर पर महिला बाल विकास विभाग की संयुक्त संचालक श्रीमती नकी जहां कुरैशी, वरिष्ठ अधिकारी, ओरिएंटल कालेज के संचालक, सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित थे।



Popular posts