भोपाल / फाल्गुन में चढ़ने लगा पारा, उत्तरी हवा की रफ्तार मंद हुई, दक्षिण से आ रही हवाओं ने सर्दी से राहत दी

भोपाल / फाल्गुन में चढ़ने लगा पारा के लिए इमेज नतीजेभोपाल. मौसम में फाल्गुन का असर दिखाई देने लगा है। उत्तरी हवा की रफ्तार मंद होते ही दिन और रात के तापमान बढ़त के साथ दर्ज हुए। मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हैं। इस कारण मैदानी क्षेत्र में आने वाली बर्फीली हवा की रफ्तार धीमी हो गई है, जिससे धूप का असर हो रहा है। इस कारण दिन और दोनों तापमान बढ़त के साथ दर्ज हुए हैं। मौसम विभाग का कहना है कि फरवरी के दूसरे सप्ताह से ठंड में कमी आने लगती है। बढ़ा तापमान उसी का असर है। बुधवार दोपहर साढ़े 12 बजे भोपाल का अधिकतम तापमान 25 और न्यूनतम तापमान 12.6 डिग्री दर्ज किया गया।   




पश्चिमी विक्षोभ का आना लगातार जारी है। 10 दिन के दौरान 2 पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो चुके हैं। 5 दिन बाद नया पश्चिमी विक्षोभ फिर से सक्रिय होगा। जिस कारण फिर से तापमान बढ़ेगा लेकिन पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म होते ही तापमान में गिरावट आएगी। मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला के अनुसार, बर्फ से ढंके पहाड़ों से टकराकर आने वाली उत्तरी हवा की रफ्तार मंद पड़ गई है। पश्चिमी विक्षोभ का भी असर है, जिसके चलते अगले 24 घंटे के दौरान रात का तापमान बढ़त के साथ दर्ज होगा।




Popular posts