छिन्दवाड़ा/राष्ट्रीय फ्लोरोसिस बचाव एवं नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत अंतर्विभागीय समन्वय संबंधी कार्यशाला संपन्न




   कलेक्टर डॉ.श्रीनिवास शर्मा की अध्यक्षता में आज कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में राष्ट्रीय फ्लोरोसिस बचाव एवं नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत अंतर्विभागीय समन्वय के लिये फ्लोरोसिस बचाव संबंधी कार्यशाला संपन्न हुई। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह नागेश, अतिरिक्त कलेक्टर श्री राजेश शाही, संयुक्त कलेक्टर श्री दीपक वैद्य, एस.डी.एम. श्री अतुल सिंह, नगर निगम आयुक्त श्री इच्छित गढ़पाले और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.प्रदीप मोजेस के साथ ही संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
      मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.मोजेस ने बताया कि कार्यशाला में कलेक्टर डॉ.शर्मा द्वारा निर्देश दिये गये कि स्वास्थ्य, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, महिला बाल विकास, ग्रामीण विकास और अन्य संबंधित विभाग आपसी समन्वय से फ्लोरोसिस के प्रति आम जन को जागरूक करें और इस संबंध में व्यापक प्रचार-प्रसार करें। साथ ही ग्रीष्म ऋतु के पूर्व सभी हैंडपंप, जल स्त्रोतों एवं नल-जल योजना के स्त्रोतों की जांच करें। जिला फ्लोरोसिस सलाहकार डॉ.राहुल श्रीवास्तव द्वारा पॉवर पाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से पानी में फ्लोराइड की अधिकता से होने वाली फ्लोरोसिस बीमारी के विभिन्न लक्षणों की विस्तार से जानकारी दी तथा विभिन्न विभागों के समन्वय से जन जागरूकता करते हुये फ्लोरोसिस का निदान करने के संबंध में सुझाव दिये गये।



Popular posts