इन्दौर/ एमवाय अस्पताल की व्यवस्थाओं को चुस्त दुरूस्त करने और सुविधाओं को सुदृढ़ तथा विस्तारित करने के संबंध में लिये गये विभिन्न महत्वपूर्ण निर्णय संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न

संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी के लिए इमेज नतीजेएमवाय अस्पताल की व्यवस्थाओं को और अधिक बेहतर बनाने, चुस्त दुरूस्त करने और सुविधाओं को सुदृढ़ तथा विस्तारित करने के लिये आज संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में एमवाय अस्पताल के सभाकक्ष में बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में महात्मा गाँधी मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. ज्योति बिंदल, एमवाय अस्तपाल के अधीक्षक डॉ. पी.एस. ठाकुर सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में एमवाय अस्पताल के उन्नयन के बारे में अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये। संभागायुक्त श्री त्रिपाठी ने लिये गये निर्णयों के परिप्रेक्ष्य में कार्ययोजना बनाकर उन्हें समयसीमा में क्रियान्वित करने के निर्देश दिये।
            बैठक में संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने एमवाय अस्पताल की व्यवस्थाओं, उपलब्ध सुविधाओं आदि की बिन्दुवार विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिये कि अस्पताल में ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित की जाये जिससे कि मरीजों और उनके परिजनों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। उन्हें बड़े निजी चिकित्सालयों जैसी व्यवस्थाएं और सुविधाएं मिलना इस अस्पताल में सुनिश्चित हों। श्री त्रिपाठी ने अस्पताल परिसर में पार्किंग एवं आवागमन की व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के लिये नया ट्राफिक प्लान लागू करने के निर्देश दिये। उन्होंने इस संबंध में बनाये जा रहे ट्राफिक प्लान को लागू करने के लिये विशेषज्ञ की सलाह लेने के निर्देश दिये। उन्होंने इस प्लान को लागू करने के लिये मूलभूत सुविधाएं करने के निर्देश दिये। ट्राफिक प्लान को सख्ती से लागू कराया जायेगा। श्री त्रिपाठी ने ओपीडी में आने वाले मरीजों को सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित की जाये, जिससे कि ओपीडी में आने वाले मरीजों को कम से कम समय लगे। उन्हें लाइन में ज्यादा समय नहीं लगना पड़े। किसी भी तरह की परेशानी नहीं हो। ओपीडी में टोकन एवं डिस्प्ले सिस्टम को प्रभावी रूप से लागू किया जायेगा। नये मरीजों के लिये अलग एवं पुराने मरीजों के फॉलोअप के लिये अलग से ओपीडी में व्यवस्था रहेगी। इसके संबंध में 15 दिन में कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि ओपीडी में पैथोलॉजी जाँच के लिये सेम्पल लेने हेतु अलग-अलग काउंटर विभागवार बनाये जायें। दवाई वितरण व्यवस्था को कम्प्यूटराइज्ड किया जाये। ओपीडी से आईपीडी तक मरीजों को स्थानान्तरित करने की सुलभ व्यवस्था बनायी जाये। पर्याप्त संख्या में व्हील चेयर एवं स्ट्रक्चर अस्पताल में रखे जायें। इसके लिये वार्ड बाय को जिम्मेदारी दी जाये। अस्पताल की बिजली फिटिंग कार्य को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिये। बैठक में बताया गया कि अस्पताल में नई फायर फाइटिंग व्यवस्था लगायी जायेगी। इसके लिये टेण्डर की प्रक्रिया जारी है।
            बैठक में संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने आकस्मिक चिकित्सा सेंटर को और अधिक बेहतर बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने यहां नया रिसेप्शन बनाने के निर्देश दिये। सफाई व्यवस्था की भी उन्होंने समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिये कि अस्पताल के शौचालय, वार्ड, कॉरिडोर तथा अन्य स्थान पर सफाई की समुचित व्यवस्था रखी जाये। मरीजों के अटेंडर्स तथा परिजनों के लिये प्रवेश पास की व्यवस्था को पुख्ता बनाया जाये। अस्पताल के सभी स्टाफ नेमप्लेट लगायें। पैरामेडिकल स्टाफ के लिये भी ड्रेस कोड रखा जाये।
            बैठक में संभागायुक्त श्री त्रिपाठी ने निर्देश दिये कि अस्पताल में भोजन वितरण के इच्छुक संस्थाओं और व्यक्तियों को एक निर्धारित स्थान उपलब्ध कराया जाये। जिससे कि कोई भी व्यक्ति या संस्था इधर-उधर भोजन वितरण नहीं कर सकें। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाये कि जिस जगह पर भोजन वितरण हो रहा है वहीं लोग बैठ कर भोजन करें। यह सुनिश्चित करें कि कोई भी व्यक्ति और संस्था इधर-उधर भोजन वितरण नहीं कर सकें। उन्होंने अस्पताल की व्यवस्थाओं के संबंध में फीडबेक व्यवस्था को विकसित करने के निर्देश दिये।


Popular posts