इन्दौर / वक्त की मांग है “रिवाइवल ऑफ द वीकेस्ट” हर स्तर पर रवैया बदलना मध्यप्रदेश के औद्योगिक विकास के लिए है आवश्यक – मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ सीआईआई के 125वें वार्षिक अधिवेशन में शामिल हुए मुख्यमंत्री

   मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ आज इंदौर में कनफेडरेशन आफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) के 125वें वार्षिक अधिवेशन में मुख्य अतिथि एवं मुख्य वक्ता के रूप में शामिल हुए। इस अधिवेशन की थीम “बिजनेस एण्ड बियोन्ड” थी। उन्होंने कहा कि सर्वाइवल ऑफ द फिटेस्ट की अवधारणा वर्तमान समय में सही साबित नहीं होती बल्कि आज की जरूरत रिवाइवल ऑफ द वीकेस्ट है। अर्थात सरकार एवं समाज को हर स्तर पर गरीब, पिछड़े लोगों की सहायता कर उन्हें अपने स्तर तक लाना आवश्यक है।
    उन्होंने बताया की दुनिया हर पांच-दस साल में परिवर्तित हो रही है। भारत भी बदल रहा है एवं लोगों की आवश्यकताएं परिवर्तित हो रहीं हैं। सीआईआई को यह प्रयास करना चाहिए कि वह लोगों की बदलती हुई आवश्यकताओं के अनुसार एक मोटीवेटिंग इंडस्ट्री के रूप में कार्य कर सके।
      मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने कहा कि गवर्नेंस रिफॉर्म्स के साथ-साथ एटीट्यूडिनल रिफॉर्म्स भी समय की सबसे बड़ी जरूरत है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश के औद्योगिक विकास के लिए यह परम आवश्यक है कि यहां के उद्योगपति, बिजनेसमैन, स्टार्टअप उद्यमी अपने एटीट्यूड अर्थात रवैये में भी परिवर्तन लाएं जिससे मध्य प्रदेश की न केवल देश में बल्कि पूरी दुनिया में एक अच्छे इन्वेस्टमेंट जो़न की छवि उभर कर आए। इससे क्षेत्र के औद्योगिक विकास को रफ्तार मिलेगी।


लगातार कम हो रही है तकनीक की आयु

 



  मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने अपने उद्बोधन में कहा कि तकनीकी का विकास इतनी तेजी से हो रहा है कि हर 6 महीने में नए तकनीक वाले मॉडल सामने आते हैं। तकनीकी उपकरणों की आयु लगातार घटती जा रही है। रोबोटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ने मनुष्य का स्थान ले लिया है। इस परिपेक्ष्य में औद्योगिक इकाइयों को धारणीय विकास के लिए कार्य करने की आवश्यकता है।


प्रोसेसिंग इंडस्ट्रीज के विकास की असीम संभावनाएं

    मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने बताया कि मध्य प्रदेश राज्य उद्यानिकी क्षेत्र में देश में दूसरे स्थान पर आता है एवं थोड़े ही प्रयासों से प्रथम स्थान पर आने की क्षमता भी रखता है। उद्यानिकी फसलों के लिए प्रोसेसिंग इकाईयों का होना आवश्यक है। जिससे कि बाजार में मार्केटेबल फिनिश्ड गुड्स उपलब्ध कराई जा सके। इस प्रकार किसान एवं औद्योगिक इकाइयों दोनों को ही लाभ मिलेगा।


मध्य प्रदेश को लॉजिस्टिक हब बनाने की ओर बढ़ रहे कदम


    मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने बताया कि मध्य प्रदेश राज्य देश के केंद्र में स्थित होने के कारण लॉजिस्टिक हब बनने की संपूर्ण संभावनाएं रखता है । उन्होंने कहा कि इसे हम ड्राई पोर्ट के रूप में भी विकसित कर सकते हैं। एयर कनेक्टिविटी के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने बताया कि विभिन्न बड़ी कंपनियों की आवश्यकता होती है कि जहां वे कार्य करें वहां इंटरनेशनल फ्लाइट कनेक्टिविटी आसान हो। इस दिशा में भी संपूर्ण प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने सीआईआई एमपी से भी इस कार्य के लिए एक प्रपोजल तैयार करने को कहा। उदबोधन पश्चात मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने सीआईआई फेलिसिटेशन अवार्ड से पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र में विशेष कार्य करने के लिये श्री कुमार पुरूषोत्तम एवं इंदौर एयर कनेक्टिविटी के लिये लगातार प्रयासरत एयरपोर्ट डायरेक्टर श्रीमती अरयामा सान्याल को सम्मानित किया। कार्यक्रम के प्रारंभ में सीआईआई के चेयरमेन श्री प्रवीण अग्रवाल ने स्वागत उद्बोधन दिया। कार्यक्रम को सीआईआई के डिप्टी चेयरमेन श्री सुनील माथुर ने भी सम्बोधित किया।
   इस अवसर पर जिले के प्रभारी एवं गृह मंत्री श्री बाला बच्चन, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट, विधायक श्री विशाल पटेल, श्री नरेन्द्र सलूजा, श्री विनय बाकलीवाल, संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी, सीआईआई मध्यप्रदेश के वाइस चेयरमेन श्री अनुराग श्रीवास्तव, इंदौर एयरपोर्ट डायरेक्टर श्रीमती अरयामा सान्याल एवं बड़ी संख्या में उद्योगपति उपस्थित थे।


Popular posts
मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा में मंत्री श्री कराड़ा ने प्रदेश में माफियाओं के विरूद्ध की जा रही कार्यवाही से अवगत कराया
Image
जबलपुर/समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने दिये सीएम मॉनिट से प्राप्त प्रकरणों को प्राथमिकता देने के निर्देश
Image
एमपी में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए 60 हजार बिस्तर तैयार, जांच की क्षमता में भी होगी बढ़ोतरी
Image
राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने बेटियों का किया सम्मान
Image
मध्यप्रदेश/कार्यवाहक मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ राष्ट्रीय अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधीजी से मुलाक़ात कर आज ही 23 मार्च,सोमवार को दिल्ली से भोपाल लौट रहे है
Image