जबलपुर/कलेक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक

कलेक्टर भरत यादव के लिए इमेज नतीजेकलेक्टर भरत यादव ने राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट कार्यालय सभाकक्ष में शुक्रवार को ली। बैठक में कलेक्टर ने राजस्व विभाग से संबंधित कार्यों की समीक्षा की और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।
    कलेक्टर ने निर्देश दिए कि अधिकारी राजस्व वसूली में तेजी लाएं, सख्ती बरतें और नियत समयसीमा में लक्ष्य पूर्ण करें। सीमांकन, बंटवारा, नामांतरण के लम्बित प्रकरणों का निराकरण समय पर सुनिश्चित हो, इनमें शिकायतें नहीं मिलना चाहिए। नजूल पट्टे वितरण के लिए शिविर लगवाएं। 30 सितम्बर 2019 तक की स्थिति में लंबित राजस्व प्रकरणों का निराकरण राजस्व लोक अदालत में प्राथमिकता से कराएं।
    धान खरीदी, भुगतान एवं परिवहन की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने निर्देशित किया कि आगामी 7 दिनों के भीतर शेष सभी किसानों का भुगतान सुनिश्चित कराएं। किसान की सहमति से रिजेक्ट धान के अपग्रेडेशन की कार्रवाई हो। गेहूं उपार्जन हेतु किसान पंजीयन का कार्य तेजी से कराएं। किसान पंजीयन 28 फरवरी तक होगा। गेहूं उपार्जन कार्य 25 मार्च से 22 मई तक होगा। रबी मौसम को देखते हुए यह सुनिश्चित करें कि किसानों को नहरों के माध्यम से पानी सुचारू रूप से प्राप्त हो। किसानों को खाद-बीज की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित हो।
    श्री यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे ग्रामीण क्षेत्रों के भ्रमण के दौरान स्वास्थ्य केन्द्र, उप स्वास्थ्य केन्द्र, डिलेवरी प्वाइंट का निरीक्षण कर जरूरतमंदों को स्वास्थ्य सुविधाएं मिलना सुनिश्चित करें। बच्चों के टीकाकरण, गर्भवती माताओं के चिन्हांकन पर ध्यान दें। गर्भवती माताओं का सही चिन्हांकन होकर प्रसवपूर्व सभी जांच हो जाए। स्वास्थ्य केन्द्रों और डिलेवरी प्वाइंट पर सभी जरूरी सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित हो, जो कमियां हों वो दूर कराएं। व्यवस्थाओं को सुधारा जाए। वहां जरूरी सामान उपलब्ध रहे। उप स्वास्थ्य केन्द्र पर एएनएम उपलब्ध रहें।
    कलेक्टर ने जोर दिया कि ग्राम पंचायतों में विकास कार्यों, साफ-सफाई पर ध्यान दिया जाए, इसमें जनसहयोग लिया जाए।इस दिशा में सकारात्मक सोच विकसित करें। ग्राम पंचायतों में आवश्यकतानुसार तालाब, खेल मैदान, शांतिधाम, छात्रावास आदि के लिए जमीन उपलब्ध कराने के लिए सक्रियता से कार्य करें। ग्रामीण क्षेत्रों में प्रधानमंत्री आवास हेतु पट्टे दिए जाएं, इसके लिए मद परिवर्तन करना हो तो प्रस्ताव भिजवाएं।
    कलेक्टर ने कहा कि बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर सभी जरूरी इंतजाम करें। एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार स्कूलों का निरीक्षण करें। पढ़ाई में कमजोर बच्चों के लिए रेमेडियल कक्षाएं लगवाएं। अभिभावकों से चर्चा करें। शिक्षकों की स्कूल में उपस्थिति सुनिश्चित कराएं, शिक्षकों का अप-डाउन करना बंद कराएं, उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करें। कक्षा दसवीं की छात्राओं की पढ़ाई पर विशेष ध्यान दिया जाए।
    कलेक्टर ने कहा कि नारंगी भूमि और वन व्यवस्थापन से संबंधित कार्रवाई वन एवं राजस्व विभाग आपसी समन्वय से पूर्ण करें। पर्यटन विभाग और अन्य विभागों के लिए जो शासकीय भूमि उपलब्ध कराई जाना है, उस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करें।
    श्री यादव ने कहा कि जहां आवारा गौवंश ज्यादा हैं और अतिरिक्त गौशाला की जरूरत है वहां जनप्रतिनिधियों से चर्चा कर गौशाला का प्रस्ताव दें। जमीन का चिन्हांकन कर संबंधित एसडीएम प्रस्ताव भेजें। गौशाला ऐसे स्थान पर बने जहां जमीन पर्याप्त हो, बिजली पानी की उपलब्धता हो। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जो गौशालाएं तैयार हो गई हैं और वहां जरूरी इंतजाम हो गए हैं उनको तत्काल चालू कराएं। गौशालाओं का पंजीयन भी कराया जाना है। शासन के अंतर्गत संधारित मंदिर ट्रस्ट से गौशालाओं को मदद दिलाएं।
    कलेक्टर ने प्रधानमंत्री किसान योजना के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों, पंचायतों के चुनाव के मद्देनजर मतदान केन्द्रों का भ्रमण कर वहां मूलभूत सुविधाएं देखें और आवश्यक तैयारी करें। श्री यादव ने सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों की प्रतिदिन मानीटरिंग करने और अविलंब निराकृत कराने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कोरोना वायरस से बचाव के बारे में जागरूकता बढ़ाने पर जोर दिया है।
    बैठक में वनमण्डलाधिकारी आरएम त्रिपाठी, सीईओ जिला पंचायत प्रियंक मिश्रा, अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित, अपर कलेक्टर व्हीपी द्विवेदी, सभी एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार और अन्य अधिकारी मौजूद थे।


Popular posts