मप्र / केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, ट्रिपलआईटी भोपाल को राष्ट्रीय महत्व का दर्जा

  • कैबिनेट की बैठक में आईआईआईटी अमेंडमेंट बिल -2020 को स्वीकृत कर यह फैसला लिया गया

  • इसमें भोपाल के अलावा सूरत,भागलपुर, अगरतला और रायचूर पांच ऐसे आईआईआईटी शामिल

    मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के लिए इमेज नतीजेभोपाल | मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (मैनिट) की मेंटरशिप में सत्र 2107-18 स्व भोपाल में संचालित आईआईआईटी सहित देश के पांच और आईआईआईटी को भी अब बाकी आईआईआईटी की तरह राष्ट्रीय महत्व के संस्थान घोषित करने की मंजूरी भारत सरकार ने दे दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में आईआईआईटी अमेंडमेंट बिल -2020 को स्वीकृत कर यह फैसला लिया गया। इसके साथ ही निर्णय लिया गया है कि यह पांचों आईआईआईटी पीपीपी मोड पर ही स्थापित रहेंगे। वर्तमान में करीब में 20 आईआईआईटी है। इनमें से सिर्फ 15 संस्थानों को राष्ट्रीय महत्व का दर्जा पूर्व में मिला था। इनमें भोपाल के अलावा सूरत,भागलपुर, अगरतला और रायचूर पांच ऐसे आईआईआईटी शामिल है, जिन्हें यह दर्जा नहीं मिला है। अब संसद में यह बिल पास होते ही इन संस्थानों को अंतिम रूप से राष्ट्रीय महत्व का दर्जा मिल जाएगा। 


     उल्लेखनीय है कि कि आईआईआईटी भोपाल को राज्य शासन ने जमीन आवंटित कर दी है। हालांकि यह संस्थान अभी भी इंडस्ट्रियल पार्टनरशिप के लिए ऐसी इंडस्ट्री की खोज कर रहा है जो इसके उद्देश्यों की पूर्ति कर सके। वर्तमान में इसके करीब 350 छात्र-छात्राओं की कक्षाएं मैनिट परिसर में संचालित हो रही हैं।




Popular posts
मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा में मंत्री श्री कराड़ा ने प्रदेश में माफियाओं के विरूद्ध की जा रही कार्यवाही से अवगत कराया
Image
जबलपुर/समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने दिये सीएम मॉनिट से प्राप्त प्रकरणों को प्राथमिकता देने के निर्देश
Image
एमपी में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए 60 हजार बिस्तर तैयार, जांच की क्षमता में भी होगी बढ़ोतरी
Image
राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने बेटियों का किया सम्मान
Image
चीन ने कहा- अमेरिका दोनों देशों को नए शीत युद्ध की तरफ धकेल रहा है, हम कोरोनावायरस के सोर्स की जांच के लिए तैयार
Image