सीधी / ग्रामीण विकास मंत्री ने मुख्यमंत्री गौ सेवा केंद्र भेलकी खुर्द का किया लोकार्पण
गौ-वंश के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए सरकार कटिबद्ध है - मंत्री श्री पटेल








    पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने कहा कि गौ-वंश के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए सरकार कटिबद्ध है। वचन-पत्र के वादे के मुताबिक सरकार क्रमबद्ध तरीके से पूरे प्रदेश में गौ-शालाओं का निर्माण करा रही है। पहले चरण में प्रदेश में एक हजार गौशालाओं का निर्माण किया गया है। अगले वर्ष के लिए 3 हजार नवीन गौशालाओं के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि स्थान एवं संसाधनों की उपलब्धता के आधार पर प्रत्येक ग्राम पंचायत में गौशाला का निर्माण किया जायेगा। ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल जनपद पंचायत सीधी के ग्राम पंचायत भेलकी खुर्द में 53.52 लाख रुपये लागत के मुख्यमंत्री गौ सेवा केन्द्र अंतर्गत कामधेनु गौशाला निर्माण एवं चारागाह विकास एवं नर्सरी निर्माण के लोकार्पण के अवसर पर संबोधित कर रहे थे।
    ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल ने कहा कि गौ-वंश के संरक्षण के साथ ही गौ-शालाएं ग्रामीण क्षेत्रों में आय वृद्धि का साधन बनें, सरकार इस लक्ष्य के साथ काम कर रही है। गौ-मूत्र और गोबर से जैविक खेती को बढ़ावा देने के साथ ही इनके विभिन्न उत्पादों के विपणन को भी प्रोत्साहित किया जाएगा। इससे गौ-पालन से जुड़े लोगों की आय में वृद्धि होगी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसरों भी बनेंगे। उन्होंने उपस्थित ग्रामवासियों को गौ सेवा से जुड़ने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि भेलकी खुर्द की गौशाला का संचालन एक आदर्श गौशाला के रूप में किया जाये जिससे जिले के साथ-साथ पूरे प्रदेश से लोग यहाँ से सीखने आयें। यह सब ग्राम वासियों की सक्रिय सहभागिता से ही संभव है।
प्रदेश में विकास के नये आयाम स्थापित करेंगें  पंचायत मंत्री श्री पटेल ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के विकास के लिए एक नए नजरिए और दृष्टिकोण के साथ काम कर रही है। घोषणाएं न करके यह सरकार जमीनी-स्तर पर काम करके जनता का विश्वास प्राप्त करना चाहती है। सरकार आम जनता की आस्था को ध्यान में रखकर काम कर रही है। एक साल के कार्यकाल में वचन-पत्र के 365 बिन्दुओं को पूरा किया गया है। किसानों की ऋण माफी, बिजली बिल में राहत, दोगुनी पेंशन राशि के साथ ही कन्यादान योजना की राशि भी बढ़ाकर 51 हजार रुपये की गई है। उन्होंने कहा कि यह सरकार गरीबों एवं किसानों के हितों की रक्षा के लिए सतत् रूप से कार्य कर रही है। सरकार ने जो भी वचन दिए थे उन्हें योजनाओं के माध्यम से पूरा किया जा रहा है

 

प्रत्येक परिवार को आजीविका मिशन से जोड़ा जायेगा ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के प्रत्येक परिवार की महिलाओं को आजीविका मिशन से जोड़कर उन्हें आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आजीविका मिशन अंतर्गत प्रदाय किए जा रहे ऋण के ब्याज की दर को 24 प्रतिशत से घटाकर 12 प्रतिशत किया गया है। सरकार शून्य प्रतिशत पर ऋण प्रदान करने के लिए व्यवस्था बना रही है। उन्होंने कहा कि मिशन से जुड़ने से महिलायें आर्थिक रूप से सशक्त होंगीं। सरकार न केवल उन्हें स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराएँगे बल्कि उनके उत्पादों के विपणन की व्यवस्था भी करेगी।

   ग्रामीण जनों द्वारा पेयजल की समस्या से अवगत कराने पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल ने कहा कि सरकार द्वारा सोन नदी के दोनो ओर की बसाहटों के लिए समूह नल जल योजना अंतर्गत कार्य योजना तैयार की जा रही है, जिसका लाभ ग्रामीण जनों को प्राप्त होगा। समूह नल जल योजना अंतर्गत हितग्राहियों द्वारा 10 प्रतिशत की भागीदारी की जाती है तथा सरकार द्वारा शेष 90 प्रतिशत राशि प्रदाय की जाती है।
   कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी ने बताया कि प्रथम चरण में जिले में 15 गौशालाओं की स्वीकृति मिली थी, जिसमें से 12 गौशालाओं का निर्माण पूर्ण हो गया है तथा 3 प्रगतिरत हैं। अगले वित्तीय वर्ष के लिए 45 गौशालाओं का लक्ष्य प्राप्त हुआ है, जिसके लिए संसाधनों की उपलब्धता के आधार पर स्थानों का चिन्हांकन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गौशालाओं के प्रभावी संचालन से कृषकों को ऐरा प्रथा से राहत मिलेगी। यह आवश्यक है कि ग्रामीणजन गौशालाओं के संचालन में सक्रिय सहभागिता निभायें। ग्रामवासी गौशालाओं से जुड़े और सेवा भाव से कार्य करें। उन्होंने कहा कि गौशालाओं को सर्व सुविधा युक्त एवं आर्थिक रूप से सक्षम बनाया जायेगा। सभी के साथ मिलकर कार्य करने से ही भेलकी गौशाला को आदर्श के रूप में विकसित होगी।
   कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा हिमांशु तिवारी ने बताया कि भेलकी खुर्द में कामधेनु गौशाला निर्माण की अनुमानित लागत राशि 27.72 लाख रूपये है। इसके साथ ही 15 लाख रूपये लागत से 2 हेक्टेयर में चारागाह निर्माण एवं 6 लाख रूपये लागत से डबरी निर्माण (तालाब) का निर्माण किया गया है। उन्होने बताया कि 20 मीटर लम्बा एवं 7 मीटर चौड़ी के 02 शेड बनाये गये हैं, जिनमें 100 गायों के रखने की व्यवस्था है। भूसा गोदाम की लम्बाई 18 मीटर एवं चौड़ाई 8 मीटर है, जिसमें 6 माह के लिए भूसा रखने की व्यवस्था है। इसके साथ ही चौकीदार कक्ष, बछड़ा घर, शौचालय, ट्यूबवेल एवं नाडेफ इत्यादि की व्यवस्था की गई है।
   इस अवसर पर जनपद अध्यक्ष सिहावल श्रीमान सिंह, पुलिस अधीक्षक आर. एस. बेलवंशी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ए. बी. सिंह, उपखण्ड अधिकारी सिहावल सुधीर कुमार बेक, उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं डॉ. एम. पी. गौतम, सरपंच द्वारिका प्रसाद केवट, गणमान्य नागरिक रूद्र प्रताप सिंह, चिन्तामणि तिवारी, आनन्द बहादुर सिंह, विनय सिंह, आनन्द मंगल सिंह, प्रदीप सिंह, भूपेन्द्र सिंह सहित अधिकारी कर्मचारी एवं ग्रामीणजन उपस्थित रहें।




Popular posts
मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा में मंत्री श्री कराड़ा ने प्रदेश में माफियाओं के विरूद्ध की जा रही कार्यवाही से अवगत कराया
Image
जबलपुर/समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने दिये सीएम मॉनिट से प्राप्त प्रकरणों को प्राथमिकता देने के निर्देश
Image
एमपी में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए 60 हजार बिस्तर तैयार, जांच की क्षमता में भी होगी बढ़ोतरी
Image
राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने बेटियों का किया सम्मान
Image
मध्यप्रदेश/कार्यवाहक मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ राष्ट्रीय अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधीजी से मुलाक़ात कर आज ही 23 मार्च,सोमवार को दिल्ली से भोपाल लौट रहे है
Image