लिवर और किडनी को स्वस्थ रखते हैं ये 5 हर्ब्स, कई समस्याओं को करते हैं दूर


क्या आपको पेशाब करते समय जलन या दर्द जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है? अगर हां, तो ये आपके किडनी में किसी तरह के खराबी यानी गुर्दे के स्वास्थ्य में गड़बड़ी के संकेत हो सकते हैं। किडनी के स्वास्थ्य में किसी तरह की गड़बड़ी होने पर यूटीआई यानी मूत्र पथ के संक्रमण, गुर्दे में पथरी या गुर्दे से जुड़ी कोई बीमारी हो सकती है। इससे पहले की आपको किसी तरह की बड़ी परेशानी का सामना करना पड़े उससे पहले सचेत होने की जरूरत है। ऐसे कई हर्ब्स हैं, जो किडनी को स्वस्थ बनाए रखने में मददगार हैं। आज हम आपको इस लेख के माध्यम किडनी और लिवर को स्वस्थ रखने के उपाय बताएंगे।



त्रिफला
त्रिफला एक ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का संयोजन है, जो आपके वजन को घटाने के साथ किडनी के नेचुरल फंक्शन में सुधार करती है। त्रिफला के सेवन से किडनी और लिवर को मजबूती मिलती है। इसका सेवन शरीर के उत्सर्जन संबंधी कामों को प्रंबंधन करने में मदद करता है।



धनिया
भारतीय रसोई में मसालों के तौर पर इस्तेमाल में लाई जाने वाली धनिया किडनी से जुड़ी समस्याओं के लिए में बहुत प्रभावी है। गुर्दे और मूत्राशय के कामों को नियमित करने में धनिया मददगार है।



अदरक
लिवर और किडनी की सफाई में अदरक बहुत ही मददगार है। इसके सेवन से लिवर और किडनी डिटॉक्स हो जाते हैं। इसमें मौजूद एंटी इंफ्लामेटरी गुण किडनी के दर्द और सूजन को कम करते हैं और यूटीआई इंफेक्शन की समस्या से बचाते हैं।



चंदन
यूटीआई, पेशाब में जलन और पेशाब करने में समस्या होने पर आयुर्वेद चंदन के पेय का सुझाव देता है। शांत और सुखदायक प्रकृति के चंदन में  एंटी-माइक्रोबियल गुण भी होते हैं। यह यूटीआई इंफेक्शन का इलाज करते हुए गुर्दे के कार्यों को प्रबंधित करने में मददगार है।


 


Popular posts