मध्यप्रदेश में कोरोना: आज 116 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 3457, अब तक 211 मौतें


मध्य प्रदेश में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 3457 पहुंच गई है। राज्य में आज 116 नए केस सामने आए हैं। राज्य में 1480 मरीज ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। कोरोना महामारी के कारण राज्य में 211 लोगों की मौतें हुई हैं। मध्य प्रदेश में 625 कंटेनमेंट क्षेत्र हैं। इस बात की जानकारी राज्य स्वास्थ्य विभाग ने दी है।


इंदौर: 81 साल के वृद्ध सहित 85 लोगों को मिली अस्पताल से छुट्टी
कोरोना वायरस के बढ़ते मामले के बीच इंदौर से राहत की खबर है। यहां 85 कोरोना मरीजों को श्री अरबिंदो अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। इसमें एक 81 साल के बृद्ध भी शामिल थे, जिन्होंने कोरोना को मात दी। इस बात की जानाकरी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने दी है। 
पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के 53 और मरीज
देश में कोरोना वायरस के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में इस महामारी से एक और मरीज की मौत की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही, जिले में इस महामारी की चपेट में आकर दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 87 पहुंच गई है। जिले में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के 53 और मरीज मिलने के बाद इस महामारी से संक्रमित लोगों की कुल संख्या 1,727 से बढ़कर 1,780 हो गई है।


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने शनिवार को बताया कि कोविड-19 से संक्रमित 55 वर्षीय महिला ने शहर के एक अस्पताल में 10 दिन चले इलाज के बाद गुरुवार को आखिरी सांस ली। वह उच्च रक्तचाप, सेप्सिस (रक्त विषाक्तता) और अन्य बीमारियों से पहले ही जूझ रही थी।


सीएमएचओ ने बताया कि जिले में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के 53 और मरीज मिले। इसके बाद इस महामारी की जद में आए लोगों की तादाद 1,727 से बढ़कर 1,780 पर पहुंच गई है। हालांकि, इनमें से 732 मरीजों को इलाज के बाद संक्रमणमुक्त होने पर अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है।


ताजा आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि रेड जोन में शामिल इंदौर जिले में शनिवार सुबह की स्थिति में कोविड-19 के मरीजों की मृत्यु दर 4.89 प्रतिशत थी। हालांकि, 30 दिन पहले की तुलना में इस मृत्यु दर में 5.44 प्रतिशत की बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। प्रदेश सरकार के आंकड़ों के मुताबिक नौ अप्रैल की सुबह की स्थिति में जिले में कोविड-19 के मरीजों की मृत्यु दर 10.33 प्रतिशत थी।


इंदौर में कोरोना वायरस का पहला मरीज मिलने के बाद से प्रशासन ने 25 मार्च से शहरी सीमा में कर्फ्यू लगा रखा है, जबकि जिले के अन्य स्थानों पर सख्त लॉकडाउन लागू है।
जानिए अन्य शहरों का हाल
इंदौर के अलावा भोपाल में 704, उज्जैन में 227, जबलपुर में 119, खरगोन में 81, धार में 79, रायसेन में 64, मंदसौर में 51, खंडवा में 56, बुरहानपुर में 47, होशंगाबाद में 36, देवास में 36, बड़वानी में 26, मुरैना में 22, रतलाम में 23, विदिशा एवं आगर मालवा में 13-13 और नीमच में 10 हो गई है।


इनके अलावा, ग्वालियर में 17, शाजापुर में आठ, सागर में छह, छिंदवाड़ा में पांच, श्योपुर में चार, अलीराजपुर, अनूपपुर, हरदा, शहडोल, टीकमगढ़ एवं शिवपुरी में तीन-तीन, रीवा एवं सतना में दो-दो और अशोकनगर, बैतूल, डिंडोरी, पन्ना, झाबुआ, सीहोर एवं गुना में एक-एक व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये हैं।


प्रदेश के भिंड जिले में आज पहली बार एक मरीज कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद प्रदेश के कुल 52 में से 39 जिलों के लोग अब तक कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं।


स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार प्रदेश में 1,766 लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं और इनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इनमें से 1,515 की हालत स्थिर है जबकि 251 मरीज गंभीर हैं। प्रदेश में अब तक कुल 1,480 मरीजों को इलाज के बाद स्वस्थ होने पर अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। प्रदेश में अब तक कुल 68,010 लोगों की कोविड-19 जांच की जा चुकी है।


कोरोना से लड़कर शहीद हुए थे यशवंत पाल, अब बेटी बनी सब इंस्पेक्टर
मध्यप्रदेश सरकार ने एक पुलिस अधिकारी की 23 वर्षीय बेटी को पुलिस में उप निरीक्षक के पद पर नियुक्त किया है। इस पुलिस अधिकारी की पिछले माह कोरोना वायरस के संक्रमण से मौत हो गई थी।


उज्जैन के नीलगंगा पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक यशवंत पाल (59) कोरोना वायरस प्रभावित इलाकों में ड्यूटी के दौरान कोविड-19 से संक्रमित हो गए और बाद में इन्दौर में निजी अस्पताल में इलाज के दौरान पिछले माह उनका निधन हो गया।



पूर्व विधायक जीतेंद्र डागा कोरोना पॉजिटिव, पूरे परिवार को किया गया क्वारंटीन 
भोपाल में पूर्व विधायक की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनके पूरे परिवार को क्वारंटीन किया गया है। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार पूर्व विधायक ने लॉकडाउन के दौरान कई ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा किया है। इसके अलावा वे कई कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से भी मिले हैं। 


ये भी बताया जा रहा है कि डागा के परिवार के कुछ सदस्यों को हल्की सर्दी और खांसी की शिकायत है। रिपोर्ट आने के बाद डागा को चिरायु अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 


वहीं एयरपोर्ट के नजदीक उनके निवास स्थान के तीन किलोमीटर इलाके को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर दिया गया है। इस इलाके में बैरिकेटिंग की जा रही है। शाम तक कुछ और सैंपल की रिपोर्ट आने की उम्मीद है। इससे राजधानी में मरीजों की संख्या में और इजाफा होने का अनुमान है।


Popular posts