तंबाकू के पौधे से तैयार की गई कोरोना की वैक्सीन, जल्द शुरू होगा इंसानों पर ट्रायल


तम्बाकू के पौधे पत्तियों पर प्रयोग


कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच दुनियाभर के वैज्ञानिक इसकी वैक्सीन तैयार करने में लगे हैं। अबतक आम उपयोग के लिए वैक्सीन तैयार नहीं हो पाई है, लेकिन विभिन्न देशों में चल रहे शोध और क्लिनिकल ट्रायल के अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। वैक्सीन बना रही कंपनियों और वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि कोरोना की वैक्सीन जल्द ही उपलब्ध होगी। इस बीच एक ब्रिटिश-अमेरिकी फर्म ने तंबाकू के पौधे से वैक्सीन बनाने का दावा किया है। कंपनी के दावे के मुताबिक, वैक्सीन का प्री-क्लिनिकल ट्रायल सफल हुआ है और जल्द ही इंसानों पर ट्रायल शुरू होगा। 


तंबाकू के पौधे से कोरोनावायरस की वैक्सीन बनाने का यह दावा ब्रिटिश-अमेरिकी फर्म केंटकी बायोप्रोसेसिंग ने किया है। कंपनी का दावा कि है कि अन्य तकनीक के मुकाबले हम जिस तकनीक से जो दवा तैयार कर रहे हैं,  उससे कम समय में ज्यादा वैक्सीन तैयार की जा सकती है। कंपनी का कहना है कि अगले महीने इंसानों पर वैक्सीन का ट्रायल शुरू होगा। 


तंबाकू के पौधे से नहीं फैलती बीमारी
केंटकी बायोप्रोसेसिंग कंपनी के मुताबिक, इसे तैयार करने में तंबाकू के पौधे का इस्तेमाल किया गया है। कंपनी का कहना है कि तंबाकू का पौधा इंसानों को होने वाली किसी भी बीमारी का वाहक नहीं बनता है, इसलिए यह वैक्सीन सुरक्षित साबित होगी। 


पत्तियों पर प्रयोग 
कंपनी के मुताबिक, वैक्सीन में शामिल तत्व तंबाकू के पौधे में बहुत ही आसानी से मिल जाते हैं। कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया कि हमने कृत्रिम रूप से कोरोना वायरस का एक हिस्सा तैयार किया। फिर इसे तंबाकू के पौधे की पत्तियों में छोड़ा गया, ताकि यह अपनी संख्या बढ़ाए। लेकिन जब वह पत्ती काटी गई तो उसमें न ही वायरस मिला और न ही इसका संक्रमण दिखा।


स्टोर करना भी होगा आसान
कंपनी का दावा है कि इस वैक्सीन को कमरे के सामान्य तापमान पर तैयार किया गया है। इसलिए इसे अन्य वैक्सीन की तरह फ्रिज या अन्य कोल्ड स्टोरेज सिस्टम में स्टोर करने की जरूरत नहीं। कंपनी के मुताबिक, इस वैक्सीन की सिंगल डोज इंसानी शरीर के इम्यून सिस्टम पर प्रभावी असर डालती है। 


एफडीए से मांगी गई है अनुमति
कंपनी का कहना है कि अप्रैल में इस वैक्सीन का प्री-क्लीनिकल ट्रायल किया गया था। इस प्री-क्लीनिकल ट्रायल के सकारात्मक नतीजे मिले हैं। इससे उत्साहित होकर कंपनी ने  इंसानों पर ट्रायल के पहले चरण की तैयारी कर रही है। इंसानों पर वैक्सीन के ट्रायल के लिए शीर्ष दवा नियामक फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन से अनुमित मांगी गई है।


 


Popular posts