भोपाल में RSS बांट रहा काढ़ा, मास्क और राशन; रोज 200 से ज्यादा परिवारों को दे रहा खाना


RSS distributing masks and rations in Bhopal


भोपाल: दुनिया की सबसे बड़ी महामारी की जंग में भोपाल में आरएसएस देश की आम जनता के साथ खड़ी दिखाई दे रही है। पूरे मध्य प्रदेश में आरएसएस के हजारों कार्यकर्ता न केवल कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते परेशान लोगों को भोजन बांट रहे हैं, वहीं रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने के लिए काढ़ा भी बांट रहे हैं। आरएसएस के हजारों कार्यकर्ता मास्क भी बांटते नजर आ रहे हैं।


तस्वीर राजधानी भोपाल के जवाहरलाल नेहरू कैंसर हॉस्पिटल की है जहां मौजूद लोग अपने परिजनों के लिए कैंसर के इलाज के लिए आए हैं लेकिन कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन में फंस गए। उन्हें खाने की दिक्कत हो रही है लेकिन उनकी मदद के लिए आरएसएस सामने आया। बीते 1 महीने से आरएसएस यहां पर इलाज करा रहे मरीजों के परिजनों को दिन में तीन बार खाना बांट रहा है।


आरएसएस का सेवा भारती संगठन के दो हजार से ज्यादा स्वयंसेवक ऐसे ही सेवा कार्य में लगे है जो कैंसर अस्पताल के अलावा स्लम एरिया में राशन-खाना बांट रहे हैं। वहीं कोरोना वायरस के मद्देनजर देश का आयुष विभाग का मानना है कि काढ़ा पीने से इम्युनिटी बढ़ती है इसलिए आरएसएस राजधानी भोपाल के स्लम इलाकों में जाकर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए लगातार काढ़ा और मास्क समेत कच्चा भोजन भी बांट रही है।


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय मानते हैं कि देश में आरएसएस इकलौता संगठन है जो अपनी तमाम गतिविधियां बंद कर कोरोना काल में परेशान जनता की सेवा कर रहा है। विजयवर्गीय ने कहा, "अगर हम देश के परिदृश्य को देखें तो तीन लाख कार्यकर्ता 66000 स्थानों पर अलग-अलग गतिविधियों में लगे हुए हैं। कहीं भोजन पैकेट बांटे जा रहे हैं, कहीं राशन की किट बांटी जा रही है, कहीं पर मास्क बांटे जा रहे हैं।"


उन्होंने आगे कहा, "रेड जोन में भी आरएसएस के कार्यकर्ता लगे हुए हैं सेवा कर रहे हैं। इंदौर में ग्यारह सौ कार्यकर्ता तीन लाख से ज्यादा पैकेट बांट रहे हैं और जो लोग बीमार है उनको अस्पताल ले जाने का काम कर रहे हैं। मैं नहीं समझता ऐसा कोई संगठन होगा जो अपनी सारी गतिविधियां बंद करके देश के परेशान लोगों के बीच जाकर सेवा कर रहा है। यह सिर्फ आरएसएस और सेवा भारती के कार्यकर्ता हीं कर रहे हैं।"


Popular posts